Rcm Swechha Kadha - benefits, price, ingredients, bv

Rcm Swechha Kadha Powder क्या है? Rcm Swechha Kadha Powder benefits, ingredients, price, bv, dp, mrp क्या है? Rcm Swechha Kadha Uses क्या है?

Rcm Swechha Kadha - benefits, price, ingredients, bv
: :

आज हम बात करने जा रहे है Rcm Swechha Kadha की, हम जानेंगे कि किस प्रकार यह हमारे स्वास्थ्य के लिए आवश्यक है और हमे इसका सेवन क्यों करना चाहिए साथ में हम बात करेंगे Rcm Swechha Kadha benefits की जानेंगे की इसके हमारे शरीर पर कौन कौन से प्रभाव पड़ते हैं। आज हम इस Rcm product की सारी खासियतों के बारे में आपको विस्तार से बताएंगे।

आज के इस महामारी के दौर में रोग प्रतिरोधक क्षमता ही हमारा सबसे बड़ा हथियार है। इसके द्वारा हम किसी भी रोग को अपने शरीर कि पहुंच से दूर रख सकते हैं। हमारी यह रोग से लड़ने कि क्षमता तभी बढ़ेगी जब आप स्वस्थ खान पान और प्राकृतिक जड़ी बूटियों से तैयार काढ़े का उपयोग करेंगे।

इसलिए Rcm ने इसी जरूरत को ध्यान में रखते हुए इस Rcm Swechha Kadha को आप सबके सामने प्रस्तुत किया है। यह काढ़ा कई बीमारियों को दूर रखता है साथ ही रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है। अगर आपको सर्दी जुकाम है तो काढ़ा आपके लिए सब से उत्तम औषधि है। आप इसका सेवन तब तक नियमित करे जब तक आपको सर्दी जुखाम से छुटकारा ना मिल जाए।

आइए अब हम जानते हैं कि इस Rcm Swechha Kadha में कौन कौन सी चीज़ों का प्रयोग किया गया है।

Rcm Swechha Kadha Ingredients

Rcm Swechha Kadha को पूरी तरह प्राकृतिक जड़ी बूटियों और मसलों से निर्मित किया गया है इसमें कोई भी हानिकारक रासायनिक पदार्थों का उपयोग नहीं किया गया है। आइए जानते हैं इसमें पड़ने वाले सामग्री के बारे में:-

Black pepper (Piper nigrum)

काली मिर्च एक बेहद गुणकारी ओर औषधि के रूप में उपयोग होने वाला एक मसाला है। यह काफी तीखा यानिकि मिर्च के स्वाद जैसा इसका फ्लेवर है। इसका उपयोग भोजन मे काफी किया जाता है। यह एक एंटीऑक्सिडेंट्स और एंटीइन्फ्लामेटरी है जो हमारी त्वचा और हृदय के लिए काफी लाभदायक है। ज्यादातर इसका उपयोग सर्दियों में किया जाता है, सर्दी में हमारी त्वचा में नमी कि कमी हो जाती है जिस कारण त्वचा सुखी और रूखी भी हो जाती है इस से बेचने के लिए भोजन में इस काली मिर्च का उपयोग एक लाभकारी ऑप्शन है।

Trifla

त्रिफला एक आयुर्वेदिक औषधि है। इसे तीन फलों से मिलकर बनता जाता है इस लिए इसका नाम त्रिफला नाम पड़ा है। जिसमे आंवला,बेहद, हरड के बीजों को कर्मशः 1:2:3 मात्रा में मिला कर तैयार किया जाता है।

त्रिफला ज्यादातर पाचन कि क्रियाओं को सुधारने के लिए प्रयोग में लाया जाता है। यह दस्त जैसी खतरनाक बीमारियों को जड़ से खतम करने के लिए काफी मशहूर है। शरीर में लाल रक्त्त कणिकाओं के निर्माण में भिब्याह काफी योगदान रखता है साथ ही रक्त के जमाव और शर्करा के लेवल को भी यह नियंत्रित करता है।

Liquorice(Glycyrrhiza glabra)

मुलहठी एक बहुत ही प्रसिद्ध जड़ी ब्यूटी है और साथ में यह मसाले के रूप में भी प्रयोग में लाया जाता है। बात करे इसके पौधे कि लंबाई कि तो यह होती है लगभग डेढ़ मीटर से दो मीटर तक। इसका भूमिगत तना या जड़ सुखाकर या उसके छिलके का उपयोग किया जाता है। अगर आप खांसी ,यह स्वस्नाली के किसी भी प्रकार के रोग से ग्रस्त है तो आपको मुलहठी का सेवन अवश्य करना चाहिए। साथ ही मुलहठी हमारी आंखों के लिए भी बहुत लाभकारी है। 

Cloves(Syzygium aromaticum)

लौंग का इस्तेमाल ललागभग कई सालो से किया जाता है। इस मसाले का उपयोग भारतीय पकवानो मे ज्यादातर  किया जाता है। इसे औषधि के रूप मे भी उपयोग किया जाता है।

लौंग का सेवन शरीर की रोग प्रतिरोधी क्षमता को बढ़ाता है और रक्त को शुद्ध करता है।

इसका इस्तेमाल मलेरिया, हैजा जैसे रोगों के उपचार में भी किया जाता है। डायबिटीज में लौंग के सेवन से रक्त में शुगर का स्तर कम होता है। लौंग का तेल दर्द निवारक के रूप में भी किया जाता है, दांतो दर्द होने पर इसे रात भर मुंह में दबाकर रख लीजिए सुभा आपको आराम मिलेगा।

Black Salt

काले नमक का प्रयोग सदियों से होता आ रहा है क्योंकि इसके अनेकों फ़ायदे है। किचन में काले नमक कि आज भी जरूरत पद जाती है। काला नमक हमारे पाचन मे सुधार लाने में लिए एक अहम भूमिका निभाता है। काले नमक में आयरन मिनरल्स काफी मात्र मे लाए जाते हैं।

काले नमक का प्रयोग आप पर दर्द मे कर सकते हैं इसे आप अजवाइन में मिलाकर पानी से इसका सेवन करे तो आपको तुरंत पर दर्द से आराम मिलेगा। काले नमक पर एक रिसर्च से पता चला है कि यह वजन घटाने मे काफी लाभदायक है।

Holy Basil (Ocimum tenuiflorum)

तुलसी एक बेहद ही गुणकारी ओर औषधीय पौधा है। इसके अनेकों फ़ायदे हैं और इसे लोग पूजते हैं। तुलसी को आयुर्वेद मे काफी महत्तव दिया गया है। तुलसी के पत्तो को आप ऐसे भी कहा सकते हैं। आपने देख होगा कि लोग घर के आंगन में तुलसी का प्पौध लगाए रखते है और उसकी पूजा भी करते हैं। तुलसी के महक से ही बैक्टीरिया और वायरस का विनाश हो जाता है।

कई बार लोग इसका सेवन चाय में डाल भी करते हैं। तुलसी एंटी आक्सिडेंट होती है जो हमारे शरीर के हानिकारक तत्वों को बाहर निकलती है। पेट दर्द मलेरिया आदि रोगों को दूर करने के लिए तुलसी का इस्तेमाल किया जाता है।

Lemongrass (Cymbopogon)

लेमनग्रास एक गुणकारी औषधीय पौधा है यह ख़ास तौर पर दक्षिण पूर्वी एशिया में पाया जाता है। यह घास जैसा दिखाई देता है। लेकिन इसकी लमाबई आम घास से ज्यादा होती है। अगर आप इसकी महक पर ध्यान देंगे तो आपको नींबू कि महक आएगी जिस लिए इसका नाम लेमनग्रास पड़ा। यह पौधा एंटी बैक्टेरियल एंटी इन्फ्लेमेटरी एवम् एंटी फंगल है इसलिए यह शरीर को बीमारियों से कोसो दूर रखता है।

Cinnamon

दालचीनी को कई सालों से मसाले के रूप में प्रयोग किया जा रहा है। यह वृक्ष कि चाल से प्राप्त होती है। इसका रंग देखे तो यह भूरे रंग कि प्रतीत होती है। यह एक तीखी गंध वाला मसाला है जो खाने में स्वाद कि मात्रा को बढ़ा देता है। दालचीनी के अनेकों फ़ायदे होते है ख़ास तौर पर यह चरम रोग,पाचन,दांत,सिर दर्द से निजात दिलाने में काफी असरदार है। कई बार यह भी पाया गया है कि यह दस्त ओर टीबी में भी काफी असरदार है।

Sonth

सोंठ की बात करें तो अदरक की तरह ही सोंठ में आयरन, कैल्शियम, मैग्नीशियम, फाइबर, सोडियम, विटामिन ए और सी, जिंक, फोलेट एसिड, फैटी एसिड,पोटेशियम, फास्फोरस आदि पौषक तत्व भारी मात्रा में पाए हैं। जो हमारे रोगप्रतिरोधक क्षमता को मजबूत करने के साथ हमारे शरीर को कई प्रकार कि मौसमी बीमारियों यानि खांसी-जुकाम जैसी बीमारी के अलावा माइग्रेन जैसे खतरनाक अन्य गंभीर रोगों से बचाती है।

Turmeric(Curcuma longa)

भारतीय मसालों में हल्दी का एक अलग ही महत्व है। यही कारण है कि आपको हर घर की रसोई में हल्दी ज़रूर मिलेगी। हल्दी खाने का स्वाद और रंग बढ़ाती है साथ ही यह कई तरह के रोगों से भी हमारी रक्षा करती है। प्राचीन काल से ही हल्दी को इलाज के रूप में इस्तेमाल किया जा रहा है। आयुर्वेद में हल्दी के लाभकारी कृत्यों  बारे में विस्तृत उल्लेख मिलता है।

Rcm Chawal क्या है, जानने के लिए यहाँ क्लिक करें ?

यह थी कुछ सामग्री जो इस Rcm Swechha Kadha में इस्तेमाल कि गई हैं अब हम Rcm Swechha Kadha benefits के बारे में जानेंगे हम जानेंगे कि किस प्रकार यह Rcm Swechha Kadha हमे लाभ पहुंचता है:-

Rcm Swechha Kadha Benefits

 बात करें इस Rcm Swechha Kadha benefits की तो यह अनेकों लाभ प्रदान करता है क्योंकि इसमें उत्तम प्राकृतिक जड़ी बूटियों का मिश्रण बना कर तैयार किए गया है। आयुर्वेद मे काढ़े का अपना एक अलग महत्तव है साथ मे अगर आप इसका नियमित सेवन करते हैं तो यह आपके शरीर को हमेशा प्राणघातक रोगों से बचा सकता है।आइए अब इसके कुछ फायदों पर नजर डालते हैं:

रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाए : Rcm Swechha Kadha में उपयोग होने वाले काली मिर्च, लौंग, तुलसी आदि मनुष्य कि रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाते हैं। यह हमे रोग से कोसों दूर रखते हैं।

सर्दी जुखाम से राहत : अगर आपको बदलते मौसम के साथ सर्दी जुकाम कि परेशानी रहती है तो आप इस Rcm product का सेवन जरूर करें जिस से आपको जल्द से जल्द आराम मिलेगा।

पाचन क्रिया सुधारे : इस काढ़े के सेवन से आप अपने पाचन क्रिया को मजबूत कर सकते हैं। अगर आप उल्टी, दस्त आदि बीमारियों से जूझ रहे हैं तो आप कुछ दिन नियमित इस काढ़े का इस्तेमाल करें आपको शीघ्र ही लाभ मिलेगा।

मधुमेह से बचाव : मधुमेह के मरीजों के लिए यह रामबाण है क्योंकि इसमें चीनी ओर मीठी चीज़ों का इस्तेमाल कम से कम किया गया है। जिस से शुगर लेवल बढ़ने का कोई खतरा नहीं रहता। जब आप इस काढ़े को तैयार करेंगे तो इसमें आप चीनी का इस्तेमाल ना करें।

दिल कि बीमारियों से निजात : इस काढ़े में तुलसी ,हल्दी, सौंठ, लौंग और काली मिर्च एंटी इन्फ्लेमेटरी है जो हृदय को स्वस्थ रखने और अचानक घात से बचने का काम करती है जो दिल के लिए काफी लाभदायक है।

तो यह थे  Rcm Swechha Kadha benefits अब हम बात करेंगे Rcm Swechha Kadha price की साथ में इसके पैकिंग कि सारी जानकारी आपको प्रदान करेंगे। 

Rcm Honey के बारें में जानने के लिए यहाँ पर क्लिक करें। 

Rcm Swechha Kadha Price

Rcm Swechha Kadha price की बात करें तो इसका मूल्य केवल 150 रुपए तय कि गई है और साथ में यह आपको 100 g की पैकिंग में मिलेगा। साथ मे आपको इसकी खरीददारी से 79 बिज़नेस वॉल्युम का लाभ मिलेगा।

Conclusion

तो यह थी विस्तृत जानकारी इस Rcm Swechha Kadha के बारे में अब आप इसका लाभ उठा सकते हैं।  यह उत्पाद आपको अपने नजदीकी Rcm pick up center पर मिल जाएगा।

 बाज़ार में आपको अन्य कई प्रकार के काढ़े मिल जाएंगे।लेकिन यह आपको फैसला लेना है कि आपको कौन सा काढ़ा चाहिए। आपको पहले उसके बारे में संपूर्ण जानकारी होनी चाहिए तभी आप उसका इस्तेमाल करें अन्यथा नहीं करें।

इस लेख के द्वारा आपको इस Rcm Swechha Kadha कि संपूर्ण जानकारी विस्तारपूर्वक प्रदान कि  चुकी है, आप इस से जरूर लाभ उठाए और इस इपने मित्रों और आगे संबंधियों के साथ जरूर साझा करें और अपने परिवार में इस Rcm Swechha Kadha का इस्तेमाल अवश्य करें।