Rcm Swechha Multi Grain Atta Benefits in Hindi

Rcm Swechha Multigrain atta is a Number 1 atta in all over the market. Absolutly more awesome benifetis of the Rcm Swechha Multigrain Atta.

Rcm Swechha Multi Grain Atta Benefits in Hindi

नमस्कार दोस्तों आज हम बात करेंगे RCM द्वारा लॉन्च किए गए नए प्रोडक्ट के बारे में जिसका नाम है Rcm Swecha Multigrain Atta। यह प्रोडक्ट हाल ही में RCM दिवस पर लॉन्च किया गया है। दोस्तों आप जानते ही है कि RCM अपने ग्राहकों की हेल्थ के सुधार के लिए हमेशा तत्पर रहता है।

इसीलिए RCM ने लोगों की सेहत को ध्यान में रख कर इस प्रोडक्ट को निकाला है जो कि बोहोत ही गुणकारी है। दोस्तों यह Rcm Swecha Multigrain Atta बाज़ार में आम मिलने वाले आटे से कई गुना ज्यादा गुणकारी ओर बेहतर है। 

ख़ास 12 तरह के अनाजों से मिलकर बनाया गया है। अब हम इसमें उपयोग में लाए गए उन अनाजों को जानेंगे जो इस प्रकार है:-

गेंहू

दोस्तो गेंहू के आटे का इस्तेमाल कई हजारों सालों से होता आ रहा है। सबसे पहले मानव ने इसी गेंहू के आटे का इस्तेमाल अपने भोजन में किया था आज हर कोई इसका इस्तेमाल करता भी है। गेंहू में उचित मात्रा में पोषक तत्व होते है जो कि शरीर के विकास में सहायता करते हैं।

मकई

मकई उत्तर भारत में बड़े पैमाने पर उगाई जाती है।यह एक पोषक तत्त्व से भरपूर आटा प्रदान करती है। मकई के आटे का इस्तेमाल भी कई जगहों पर किया जाता है।

अलसी

यह सम्सितोषण प्रदेशों में उगाया जाता है। यह पौधा दो तरह के कामों में उपयोग में लाया जाता है। एक है इसके रेशों से रस्सी, टाट,कपड़ा आदि बनाया जाता है और दूसरा इसे बीज से तेल निकाला जाता है जो कि ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने में कारगर साबित होता है यह पाचन क्रिया को भी बढ़ावा देता है। इसका इस्तेमाल भी Rcm Swecha Multigrain Atta में किया गया है।

सोयाबीन

दोस्तो इसे एशिया में बहुत बड़ी मात्रा में उगाया जाता है। यह प्रोटीन का सबसे बड़ा साधन है। इसमें अन्य प्रकार के मिनरल्स भी पाए जाते है।

Isolated सोया प्रोटीन

यह एक प्रकार का प्रोटीन है जिसे सोयाबीन से निकालकर अलग किया जाता है। बाद में इसे आप अपने खाने में मिला कर इसका सेवन कर सकते हैं। इसलिए इसे इस Rcm Swecha Multigrain Atta में एक पोषक तत्त्व के रूप में इस्तेमाल किया जाता है।

Oats

इसे भारत में जई के नाम से भी जाना जाता है। इसके बीज पोषक तत्त्व से भरपूर होते है। इसके रोजाना सेवन करने से यह blood cholesterol level को कम करने में मदद करता है। इसमें अवेनिस नामक प्रोटीन पाया जाता है जैसे गेंहू में गलियादीन प्रोटीन पाया जाता है।

मेथी

दोस्तो यह लगभग हर रसोई में इसका उपयोग होता है। इसे लोग अपने खाने में बहुत पसंद भी करते हैं। यह खाने का जायका ओर भी बड़ा देता है। यह हाई ब्लड प्रेशर को भी कम करता है पाचन में भी सहायता करता है।

चोकर

यह गेंहू कि बाहरी परत होती है जो कि गेंहू पीसने पर अलग हो जाता है या जब आप गेंहू के आटे को छानते हो तो यह अलग हो जाता है। यह कब्ज, कोलेस्ट्रॉल लेवल, अमाशय के घावों को भरने में भी सहायता करता है।

चना दाल

दोस्तो यह चनों से बनी गई दाल है जिसे लोग आमतौर पर घर में बनाते ही है। यह भी प्रोटीन से भरपूर होती है।

राजगिरा

इसे चौलाई और राम दाना के नाम से भी जाना जाता है। यह प्रोटीन ओर ग्लूटेन फ्री होता है। यह पाचन ओर  हड्डियों के निर्माण में भी सहायता करता है। इसका इस्तेमाल व्रत के दिनों में किया जाता है। लेकिन इसके स्वस्थ संबंधी फायदों को देखकर इसे अब भोजन में भी जगह मिल गई है।

सिंघाड़ा

यह पौधा पानी में पैदा होता है इसके फूल अगस्त में तैयार हो जाते है ओर सितम्बर में यह फल का रूप ले लेते है। यह तिकोना आकार का फल होता है जिसके जो छिलकों से घिरा होता है जिसके अंदर सिंघाड़ा पाया जाता है। यह अस्थमा ओर बवासीर के मरीजों के लिए काफी लाभदायक औषधि है।

गेंहू फाइबर

दोस्तों यह भी गेंहू कभी एक अंग है जिसका इस्तेमाल Rcm Swecha Multigrain Atta में किया जाता है।

तो दोस्तो यह थी इस आटे में उपयोग में लाने वाले अनाज जो की मानव के स्वस्थ के लिए बोहोत ही लाभकारी है। यह ,Rcm Swecha Multigrain Atta इन्हीं सब अनाजों से मिलकर बना है जो कि भारी मात्रा में पोषक तत्त्वों से मिलकर बना है। 

हमें आशा है कि आपको इस प्रोडक्ट के बारे में संपूर्ण जानकारी मिल गई होगी और आप इस जानकारी का लाभ अपने मित्रों सगे संबंधियों को भी दें और आप इस आटे का इस्तेमाल अपने परिवार में भी करें धन्यवाद।